Uncategorized

सरोकार वाली पत्रकारिता: दिखा क्या रहे हैं?

Most-Influential-Journalists-Today-min

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अभी चुनाव संपन्न हुए हैं जहाँ नवाज शरीफ की पार्टी को जीत हासिल हुई है,इस जीत की ख़ुशी में नवाज शरीफ भी मुजफ्फराबाद आये थे और उन्होंने पूरे कश्मीर को पाकिस्तान में मिलाने की बात की थी, उनके इस बयान की काफी चर्चा हिन्दुस्तान में भी हुई।

Continue reading
Uncategorized

ट्रंप का चुनाव

Trump

वर्तमान दुनिया में लोकतंत्र की रक्षा के ठेकेदार बने अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की सरगर्मी है जिनमें रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप का नाम पूरी दुनिया में फ़ैल चुका है, वैसे जो अमेरिका पर नजर रखते हैं उन्हें मालूम होगा ही कि जिस मामले में ट्रंप की सबसे अधिक बदनामी हो रही है और जिस कारण से अमेरिकी उनके पीछे लामबंद हो रहे हैं उस काम में माहिर हिलेरी हैं।

Continue reading

स्वाभिमान के नाम पर नया खेल

सभी राजनैतिक दल धनपशुओं को प्रश्रय देते ही हैं क्योंकि लोकतंत्र की कीमत बड़ी ऊंची लगती है, मुख्य पर्व के ठीक पहले साड़ी-धोती बांटने से लेकर दारू मुर्गा वाला मामला तो हलके में निबटा लिया जाता है

Continue reading

सिकुड़ता ब्रिटेन

ब्रिटेन में जो हुआ उसकी अपने देश में कैसी-कैसी प्रतिक्रिया हो रही है, लोगों को यह ठाकरे का वाद लग रहा है तो वहीं बड़े जानकार लोग इसे ट्रंपवाद की दुनिया में बढ़ती स्वीकार्यता बता रहे हैं।

Continue reading

नए ज़माने का सर्कस

भूखे नंगे लोगों को सर्कस दिखाने की पुरानी यूरोपियन कहावत भारत में एकदम खरी उतरती है, पशु अधिकार वादियों की सक्रियता से अब पशुओं पर क्रूरता बंद करवा दी गयी है क्योंकि बताया यह जाता था कि सर्कस में पशुओं को भूखा रख कर या उन्हें मानवीय यातना देकर उनसे करतब करवाए जाते थे।

Continue reading

उड़ता पंजाब

अमेरिका के गे क्लब में जब पचासों लोग मारे गए तब भारत में भी तमाम लोगों ने शोक मनाया, अलीगढ़ युनिवर्सिटी जब प्रोफ़ेसर सिरास मरे तो उसकी चर्चा बहुत ही कम हुई और जब उस घटना पर एक जबरदस्त फिल्म आई अलीगढ़ तो उसका उस शहर में ही विरोध होने लगा जहाँ की यह कहानी थी जबकि शहर की नहीं उस शहर के एक कैम्पस के एक संवेदनशील प्रोफ़ेसर की कहानी थी। Continue reading

फेक इन इंडिया

इस ज़माने में स्मार्ट फोन ही रखना काफी नहीं क्योंकि बहुतेरे लोगों को यह भी नहीं पता होता कि इस फोन से क्या-क्या किया जा सकता है फिर भी चाहत तो सबकी है कि उनके पास स्मार्ट फोन हो।

Continue reading

कैसा राष्ट्र?

कबीर दास ने कहा था कि रहना नहीं, देस बिराना तो प्रधानमंत्री ने भी कुर्सी संभालते ही अपने भाषणों की श्रृंखला में कई बार कहा कि कुछ समय पहले तक लोग कहते थे कि पता नहीं कैसे देश में जन्म हो गया।

Continue reading

तमाशा जेएनयू वाला

देश के विदेश सचिव और प्रधानमंत्री के प्रिय सलाहकार एस.जयशंकर, डिप्टी नेशनल सिक्यूरिटी एडवाइजर अरविन्द गुप्ता, पीएमओ में आतंकवाद निरोधक सेल के मुखिया सैयद आसिफ इब्राहिम और नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कान्त साहब JNU संस्थान से पढ़ कर आये हैं।

Continue reading

हाशिम अमला और अकबरुद्दीन ओवैसी से खेल

कई साल पहले की बात है मसूरी की माल रोड पर टहल रहा था तभी एक मित्र ने वहां एक युवक से परिचय कराया और कहा कि ये भी आप ही के तरफ के हैं और ट्रेनी आईपीएस हैं जो यहाँ अकादमी में आये हैं।

Continue reading